Think and Grow Rich

Think and Grow Rich (हिन्दी)

Napoleon Hill द्वारा "Think and Grow Rich" किताब एक timeless self-help classic है जो सफलता और समृद्धि प्राप्त करने पर invaluable insights प्रदान करती है। अपनी व्यावहारिक तकनीकों और प्रेरणादायक anecdotes के साथ, यह उद्यमियों और व्यक्तिगत विकास चाहने वाले व्यक्तियों के लिए अवश्य ही पढ़ी जाने वाली किताब बन गई है। यदि आप personal development की आकांक्षा रखते हैं, तो आपको यहाँ पढ़ना जारी रखना चाहिए!

मैंने कहीं पढ़ा था कि अगर आप सोच के धनी है तो कुछ भी कर सकते हैं। क्या आप भी इस बात से वस्ता रखते हैं? क्या आपको लगता है कि अगर हम अपना सोच सही कर ले तो शायद कुछ अच्छा हो जाएगा? क्या सोचने में बदलाव करके हम अमीर बन सकते हैं?

अगर ये सारे सवाल आपको भी तंग करते हैं, आपको सोने नहीं देते तो आप तैयार हो जाइये। क्योंकि आज हम एक ऐसी ही किताब के बारे में बात करने जा रहे हैं जिसमें सभी सवालों के जवाब छिपे हुए हैं।

परिचय

हमारी आज की summary ‘Think and Grow Rich’ किताब पर है, जिसको Napoleon Hill ने लिखा है। Nepoleon Hill एक American author है जिन्होने नए सोच के movement पर लिखा और ये ऐसे पहले writers में से एक है जो modern era की personal success literature लाए और उसमें सफलता पर लिखने वाले महान लेखक में से एक माने जाते हैं।

Think and Grow Rich एक all time best selling books मे से एक है। Think and Grow rich में Nepoleon Hill अपने career को बढ़ाने की प्रक्रिया (process) में, पैसों की जरूरत और व्यक्तिगत संतुष्टि के लिए विचार और दिमाग की मनोवैज्ञानिक शक्ति (psychological power) को discover करते है। 1937 में publish हुई ये किताब अपने आप self-help classic है जो investors और entrepreneurs को जरूर पढ़ना चाहिए।

जैसा कि हम इस किताब की title में देखते हैं, ये किताब आपकी income को कैसे बढ़ाये और अमीर कैसे बने, इस बारे में नहीं है। इस किताब में Author की philosophy हमें मदद कर सकती है अपनी professional life में को success पाने के लिए, अपनी आकांक्षाओं को पाने के लिए और success को अपनी life में attract करने के लिए।

चलिए शुरू करे।

Think and Grow Rich

आप अपनी किस्मत के master और आत्मा के Captain हैं।

“Think and Grow Rich” एक मन की स्थिति है। Reality में ये किताब exploit करती है आपकी विचारों की शक्ति को, अपनी मजबूत इच्छाओं को प्रकट करने के लिए और अपने उद्देश्य को खोजने के लिए। आपके निश्चित उद्देश्य को वास्तविकता में बदलना आसान नहीं है। अगर आपकी इच्छा strong है और आप दाव लगाना चाहते हैं तो “आप जीतेंगे”। लेखक एक formula को project करते हैं।

आपकी इच्छाएं + आपके विचार + आपके प्लान + आपके बड़े कार्य आपको सफलता का विस्तार करते हैं।

आप कहां और आप कहां पहुँचना चाहते हैं, इसके लिए लेखक highlight करते हैं कि कभी हार मत मानो। हार नहीं मानना। Help लें । नए connections बनाएं। नए तरीके अपनाये अपनी नौकरी खोजने के skills को बेहतर बनाने के लिए और resources की मदद ले। नए लोगों को खोजिए, जो आपको अपने goals तक पहुंचने में मदद कर सकते हैं।

भाग 1 – इच्छा

आप सबसे ऊपर अपनी कौन सी इच्छा को रखते हैं? एक powerful desire अपने लक्ष्य तक पहुंचने के लिए 2 तरह के motivation को use करती है।

Think and Grow Rich Book
  1. Pull Motivations – आपके लक्ष्य का परिणाम इतना अनुकूल होगा कि वो आपको अपने लक्ष्य की तरफ attract करेगा।
  2. Push Motivations – अगर आपने action नहीं लिया उसका negative result आपको action करने के लिए push करेगा।

लेखक की इच्छा के 5 महत्वपूर्ण क्षेत्रों को दिखाता है। Career, Leading, Money, Failure और अन्य लोगो की इच्छाएँ।

  • Career – मुझे क्या मिलेगा? मैं कैसे grow करूँगा? अहंकार से संबंधित चिंता जैसे शीर्षक, वेतन, लाभ आदि। ये शिफ्ट होना चाहिए। Company और position के अंदर growth opportunities के लिए।
  • Leading – आपको lead करने के लिए पहले से ही एक Leader को follow करना और उनसे सीखना होगा। आपके career को कैसे प्रभावित करेगे। अगर आप किसी के learner बन जाएं जो उस field के top पर हो जिसे आप तारीफ करते हैं।
  • Money – लेखक कुछ steps की series suggests करते हैं उन इच्छाओं को जो पैसे पर आधारित होती है।

कितना पैसा और किस तरह की नौकरी चाहिए ये निश्चित करिए।

जाने की आप जितने पैसे चाहते हैं उसके लिए आप क्या return में दे सकते हैं।

आप जो पैसे की इच्छा करते हैं उसे पाने के लिए एक निश्चित तारीख को establish करें।

एक बार अपनी इच्छा को शुरू करने और उससे पूरा करने के लिए निश्चित plan बनाएं।

 दिन में 2 बार लिखें Statement को बोलकर पढ़िए।

  • Failure – बिना किसी emotional attachment से अपनी हार से हुई सीख को समझिए और discover किजिए कि ऐसा क्यों हुआ। ऊंचाईयों को पाने के लिए, अपनी हार को opportunity मानकर इस्तेमाल करिए।
  • दूसरों की इच्छाएँ

आप अगर employee या freelancer है तो company के मालिक या मैनेजर की मदद करने से अपने लक्ष्यों को पा सकते हैं। अगर ये आपके goals से मिलते हैं तो आप अपने goals को भी advance कर सकते हैं क्योंकि आप अपने area of interest में excel होना शुरू करते हैं।

भाग 2 – विश्वास

इच्छा की प्राप्ति में Visualization और विश्वास

 “बहुत हद तक आपकी सफलता और हार, आपकी सोच पर आधारित होती है, और मन में positive belief एक आधार है जिससे सफलता को पाया जा सकता है।”

विश्वास आता है जब subconscious मन को बार बार instructions मिलेंगे। Positive emotions को encourage करें और negetive emotions जैसे संदेह, इनकार और डर को खत्म करें तो विश्वास बहुत तरह से एक हथियार के रूप में काम आ सकता है:

  • ये हार के लिए एक antidote है।
  • जब आप अपने ऊपर विश्वास करेंगे तो लोग भी आपके ऊपर विश्वास करेंगे।
  • Employer सफल और confidence से भरे लोगो को ढूंढते हैं जो एक positive impact ला सकें।
  • अपना विश्वास को आत्मविश्वास के रूप में build करने के लिए, लेखक सुझाव देते हैं कि, आप अपना नाम एक statement के साथ लिखे, जो आपको daily repeat करना चाहिए, जिससे subconsciously आप अपने विचारों और कार्यों को प्रभावित कर सकते हैं।
  • आपके पास क्षमता है कि आप अपने उदेश्य को पा सकते हैं।
  • आप वादा करते हैं कि आप action लेंगे।
  • आप ये समझते हैं कि आपके विचार धीरे-धीरे हकीकत में बदल जाएंगे।
  • आप वादा करते हैं कि आप अपना समय अपने विचार को हकीकत में बदलने में देंगे।
  • आप आत्मविश्वास की अहमियत को समझते हैं और वादा करते हैं कि दिन में 10 मिनट इस काम को करने के लिए देंगे।
  • आप अपने लक्ष्य तक पहुंचने से पहले कभी नहीं रुकेंगे।
  • अगर आप दूसरों की मदद करते हैं तो दूसरे भी आपकी मदद करेंगे।

ऐसे लोगों को छोड़िये जो वहां है जहां आप पहुँचना चाहते हैं (career में, पैसों में, आपको जो influence करते हैं उनका नाम लीजिए)। अपने विश्वास को बनाने के लिए उनके अनुभव को याद रखिये और आपने आप को याद दिलाये की आपकी इच्छाओं को पाना संभव है।

भाग 3 – स्व-सुझाव (Auto-suggestion)

अवचेतन को प्रभावित करने का माध्यम

Auto-suggestion का principle हमारी इच्छा से सीधा संवाद (communicate) करती हैं, अवचेतन (subconscious) मन से एक अटूट विश्वास के रूप में।

जागरूक विचार और इच्छाएं अपने routine repetition के through, हम material चीजें जो हमारे subconscious mind तक पहुंचा है, हमारे decision, feeling और actions को control करता है, हम सबके control को दोबारा हासिल कर सकते हैं।

भाग 4 – विशिष्ट ज्ञान (specialised knowledge)

व्यक्तिगत अनुभव या अवलोकन

अपनी desires को monetary, career या किसी और तरह की सफलता में बदलने के लिए पहले हमारे पास services, product और profession की specialised knowledge होनी चाहिए, जिससे हम एक बड़े fortune को build करने के लिए offer कर सकते हैं।

Think and Grow Rich Summary

यह specialised knowledge पहले ही आपके कब्ज़ा (possession) में नहीं होना चाहिए। खरीदना और किराए की knowledge होना एक popular तरीका है इस कदम को पूरा करने का। Courses, seminars, books,, या summaries, उद्योग सम्मेलन सभी आपको बहुत जरूरी specialised knowledge को पाने में मदद करते हैं।

एक दूसरा powerful तरीका है knowledgeable लोगो के साथ काम करना मतलब renting knowledge । एक महत्वाकांक्षी व्यक्ति के लिए अपनी field में सभी नए developments को बनाये रखने के लिए जिंदगी भर सीखना जरूरी है।

भाग 5 – कल्पना

मन की कार्यशाला

Ideas products हैं और आप उन्हें imagination से shape दी जाती है। इंसान अपनी कल्पना से कुछ भी बना सकते हैं। लेखक दो तरह की कल्पनाओं के बारे में बताते हैं:

Synthetic Imagination: ये आपके पुराने concepts, विचार, plans को नए combination में arrange करता है। और कल्पना (creative) से प्रेरणा मिलती है और विचार आते हैं कभी ना खत्म होने वाले ज्ञान से।

अगर आप अपनी कल्पना का अच्छा इस्तेमाल करना चाहते हैं अपने बड़े goal को पाने के लिए ideas की list बनाएं जो आपको प्रेरित (inspire) भी करें और आपके talents को अच्छे से इस्तेमाल करें।

भाग 6 – संगठित योजना

कार्रवाई में इच्छा का Crystallisation

सिर्फ अपनी सुरक्षा के बारे में सोचना जवाब नहीं है। हर एक उपलब्धि (achievement) आती है मजबूत इच्छा, कल्पना से हकीकत में काम करने और एक संगठित योजना (organised plan) के बाद।

Think and Grow Rich Summary

कोई भी plan perfect नहीं है। जब आप अपने plan को लागू (implement) करते हैं तो आपको एक temporary हार का अनुभव होता है। सबसे अच्छा तरीका है कि आप उसे अपना लें एक signal के रूप में क्योकि आपकी planning सही नहीं है। Plan को फिर से बनाएं। अपनी पिछली असफलताओं की knowledge के साथ, अपने goal का पीछा करते रहें।

अपने लक्ष्यों तक पहुंचने से पहले हार मत मानिए क्योंकी हार मानने वालों को अपने long term plans को पूरा होते देखने का मौका नहीं मिलता।

भाग 7 फ़ैसला

विलंब की महारत

जो लोग सफलता पाने में हार जाते हैं, बिना exception के अपने फैसलों पर बहुत धीरे-धीरे पहुचते हैं और अपना मन को बहुत जल्दी और बार बार बदलते हैं।

सफल लोग तुरंत निश्चित रूप से फ़ैसलों पर पहुँचते हैं और अपने मन को धीरे बदलते हैं। उन्हें पता है कि उन्हें क्या चाहिए और वो उससे पा भी लेते हैं। फ़ैसलों की शुरुआत में हमेशा साहस की जरुरत होती है। फ़ैसलों का opposite है टालमटोल जो एक common enemy है जिसे हर एक इंसान को reality में जीतना है।

भाग 8 – निश्चित

विश्वास को प्रेरित करने के लिए आवश्यक निरंतर प्रयास

एक बड़ा कारण असफलता का है दृढ़ता (persistence) की कमी। इसे जीता जा सकता है पर ये निर्भर (depends) करता है पूरी तरह आपकी इच्छा (desire) पर कमजोर इच्छा कमजोर परिणाम लाते है। दृढ़ता (persistence) का आधार power of will है और ये और भी दूसरे कारणों से प्रभावित (influenced) होती है। जैसे कि:

पहले से कहे कारणों में आप में कोई कमी है जो आपकी दृढ़ता (persistence) में रुकावत है? इसके विपरीत दृढ़ता (persistence) की कमी कुछ लक्षणों को विकसित करती है:

  • टालमटोल
  • Interest में कमी।
  • असमंजस।
  • आत्म संतुष्टि ( Self-satisfaction) ।
  • उदासीनता (Indifference) ।
  • Desire का समाप्त होना।
  • हार मानने की इच्छा।
  • संगठित योजनाओं (organised plans) की कमी।
  • करने के बजाए कामना करना।
  • Shortcuts को ढूंढ़ना।
  • आलोचना का डर हो तो कोई अपनी दृढ़ता (persistence) को कैसे विकसित करे?

लेखक 4 steps में सुझाव देते हैं:

  • एक निश्चित (definite) लक्ष्य को विकसित करें, जिसके पीछे एक गंभीर इच्छा होनी चाहिए।
  • एक निश्चित योजना को बनाएं जो निरंतर कार्रवाई को express करता है।
  • सभी नकारात्मक (negative) और हतोत्साहित (discouraging) करने वाले प्रभावों को दूर रखें।
  • उन लोगों के लिए जवाबदेह (accountable) रहे जो आपको अपने plan और उद्देश्य (purpose) को follow करने के लिए प्रोत्साहित (encourage) करेंगे।

भाग 9 – Mastermind की शक्ति

चलाने का बल

आप Mastermind तब है जब, आपके पास लोगों की टीम है जिनके काम आपके प्लान को चलाना और आपकी सफलता में मदद करना। आपकी team मैं कौन होगा और आने वाले 30 दिनों में ये आप कैसे बनाएंगे? Mastermind की शक्ति के बिना कोई भी महान शक्ति और सफलता को नहीं पा सकता।

Think and Grow Rich Hindi

Mastermind का लक्ष्य होता है निश्चित प्लान के साथ, knowledge को power में Convert करे और फिर plans को action में बदलना।

भाग 10 – अवचेतन मन

जोड़ने वाली कड़ी

इंसान की नीयत और कभी न खत्म होने वाली बुद्धि का एक मेल है अवचेतन मन (subconcious mind)।

अवचेतन मन (Subconscious mind) एक माध्यम के रूप में काम आता है आपकी इच्छाएं (desires) और उनके भौतिक (physical) और मौद्रिक (monetary) चीजो में बदलने के लिए। आपका नजरअंदाज का result होगा कि जो विचार आप तक पहुंचेंगे वो खत्म हो जाएंगे, अगर आप अपनी ख्वाहिशों (desires) को plant करने में फेल रहे ।

subconcious mind पर नियंत्रण पाने के लिए 7 बड़े सकारात्मक भावों (positive emotions) को लागू करने और अपने फायदे के लिए इस्तेमाल करने की आदत डाल लें: इच्छा, विश्वास, प्यार, सेक्स, उत्साह, रोमांस, आशा।

रचनात्माक अवसर को खराब करने के लिए आपके अवचेतन मन में सिर्फ एक नकारात्मक भावना आपके चेतन मन (conscious mind) में होना काफी है। सात बड़े नकारात्मक भावनाओं से बचें जैसे डर, ईर्ष्या, नफरत, बदला, लालच, अंधविश्वास, गुस्सा।

End में आपका मन पूरी तरह से Positive Emotions से हावी हो जाएगा ताकि Negitive Emotions अंदर ना आ सके।

भाग 11 – मस्तिष्क

विचार एक प्रसारण और प्राप्त करने वाला स्टेशन है

हर इंसान का दिमागी सोच (thought) vibration को broadcast और receive करने का station है। अवचेतन मन (subconsious mind) “देने का station” है जिससे की broadcast होती है। Creative imagination एक “receiving set” है जिससे सोच की vibration को atmosphere से लिया जाता है। जब vibration ऊचाई पर आती है तब सोच (thought) की vibration में मन उससे और ज्यादा receive करता है।

काफी तेज rate की vibrations सिर्फ ऐसी तरंगें हैं जो atomosphere से ली जाती है और चलती है एक दिमाग से दूसरे दिमाग तक।

बुद्धि के मंदिर का द्वार

6th sense की समझ ध्यान और अपने अंदर से मन के विकास से आती है। एक बार आपने 6th sense को master कर लिया तो आप आपने नजदीक आने वाले खतरों की खबर समय पर पा सकेंगे तथा आप उनको रोक सकेंगे और समय पर मौके (opportunities) की खबर पा सकेंगे औरउनको गले लगा सकेंगे।

भाग 12 – छठी इंद्रिय (6th sense)

जब आपका मन शंकित और डरता है तो छठवीं इंद्रिय (6th sense) कभी काम नहीं करती। ये सब आपस में संबंधित (relate) करते हैं: इससे संदेह पैदा होता है और जिसका अंतिम परिणाम होता है, डर। 6 अतिसंवेदनशीलता: गरीबी, आलोचना, खराब स्वास्थ्य, प्यार की कमी, बुढ़ापा, मृत्यु। जबकि नकारात्मक प्रभाव का प्रदर्शन 7वां दुश्मन है।

अपने आप को इस शत्रु से बचने के लिए आप भी वैसा करिए जैसे और लोग धन इक्कठा करते हैं।

आप जानकर ऐसे लोगों की company ढूंढे जो आपको सकारात्मक (positive) सोचने और काम करने में मुख्य प्रभाव डालते हैं। अपने विचारों पर नियंत्रण करने के लिए अपनी इच्छाशक्ति (will-power) का उपयोग करिए और अपने अवचेतन मन (subconscious mind) को प्रभावित (influence) करिए। डर एक state of mind है। ये नियंत्रण (control) और दिशा (depend) पर निर्भर है। इस knowledge को अपने फायदे के रूप में इस्तेमाल करें।

निष्कर्ष

ये किताब बताती है विचार की शक्ति को मजबूत इच्छाएं और निश्चित उद्देश्य को हकीकत में बदलने के लिए। विश्वास एक गोंद (Gond) है जो सबको साथ जोड़कर रखती है। हर एक उपलब्धि शुरू होती है प्रबल इच्छा से, संगठित योजना (organised plan) के बाद कल्पना से वास्तविकता में काम आती है। सफल व्यक्ति निश्चित निर्णय पर जल्दी पहुँचते हैं और अपने मन को धीरे बदलते हैं। हार का एक बड़ा कारण है दृढ़ता (persistence) की कमी। आपको persistence की मदद चाहिए बड़ी ताकत और सफलता को पाने के लिए। डर एक state of mind है। ये नियंत्रण और दिशा पर निर्भर है।

Think and Grow Rich किताब की समीक्षा

Napoleon Hill द्वारा “Think and Grow Rich” एक timeless self-help classic है जो सफलता प्राप्त करने पर invaluable insights प्रदान करती है।

Napoleon Hill धन और समृद्धि प्राप्त करने में सकारात्मक सोच, लक्ष्य निर्धारण और दृढ़ता की शक्ति पर प्रमुख factors के रूप में जोर देते है। व्यावहारिक तकनीकों और प्रेरक कहानियों के साथ यह किताब व्यक्तिगत विकास के लिए एक roadmap के रूप में कार्य करती है।

यह बाधाओं को दूर करने और इच्छाओं को प्रकट करने के लिए actionable steps प्रदान करती है। चाहे आप एक aspiring उद्यमी हों या व्यक्तिगत विकास की तलाश में हों, “Think and Grow Rich” आपकी क्षमता को unlock करने और एक समृद्ध भविष्य बनाने के लिए ज्ञान का खजाना प्रदान करती है।

धन्यवाद

Leave a Comment